The 10 names of ganesha in Hindi

Chant these 10 names of Ganesha daily and you will soon see troubles removed from your life. It is also believed that the chanting of the names helps in changing bad luck to good luck. The ten names of Ganesha are:

गणाधिपाय नम
उमापुत्राय नम
विघ्ननाशनाय नम :
विनायकाय नम:
ईशपुत्राय नम
सर्वसिद्धिप्रदाय नम:
एकदंताय नम:
 इभवक्ताय नम:
मूषकवाहनाय नम:
कुमारगुरवे नम:

महालक्ष्मी मंत्र

महालक्ष्मी मंत्र देवी लक्ष्मी को समर्पित हे।  इस मंत्र का जप करने से धन की प्राप्ति होता हे।  धन प्राप्ति केलिए इस मंत्र के साथ साथ महालक्ष्मी की चित्र पर कमल गट्टे चढ़ाएं। लक्ष्मी को खीर की भोग देना चाहिए।

इस मंत्र का जप सुबह और श्याम १० ८ बार -  ११ दिन केलिए करना चाहिये।

महालक्ष्मी मंत्र

ऊँ श्रीं ह्यीं कमले कमलालये प्रसीद श्रीं ह्यीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मये नम:।

शनि महामंत्र

शनि महामंत्र शनि देव को समर्पित हे।  इस मंत्र का जप करने से शनि देव का प्रकोप शांत होगा।  शनि देव स्थायित्व के कारक माने गए हैं।

इस मंत्र का जप सुबह और श्याम १० ८ बार -  ११ दिन केलिए करना चाहिये।

उड़द, तिल, गुड़ से बने पकवान का प्रसाद चढ़ाना महत्व पूर्ण हे।

शनि महामंत्र
ऊँ नीलांजन समाभासं रवि पुत्रं यमाग्रजम्। छाया मार्तण्ड सम्भूतं तम् नमामि शनैश्चरम्।।
शनि महामंत्र और हवन 

शनि देव का अभिषेक पंचामृत से करें। हवन के लिए घर के आंगन में यज्ञ कुण्ड बनाएं अथवा किसी लोहे या तांबे के पात्र में आम की लकड़ियां, गोबर के कण्डे जलाकर तिल, शक्कर, घी, चावल मिलाकर 108 बार शनि महामंत्र का उच्चारण करें और आहुति दें। 

अक्षय तृतीया पूजा

अक्षय तृतीया के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर समुद्र, गंगा या अन्य पुण्य नदी या तीर्थ में स्नान करें। इसके बाद भगवान गणेश, विष्णु , कुबेर और लक्ष्मी की  विधि विधान से पूजा करें।

नैवेद्य में जौ या गेहूं का सत्तू, ककड़ी और चने की दाल अर्पित करें।

इसके बाद फल, फूल, बरतन, तथा वस्त्र आदि गरीब लोगों को  दान करे ।

इस दिन लक्ष्मी नारायण की पूजा सफेद कमल अथवा सफेद गुलाब या पीले गुलाब से करें।