सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं


दीर्घायु मंत्र

दीर्घायु मंत्र भगवान शिव से जुड़ेहुएहै। महामृत्युंजय एकमात्र एेसा मंत्र है जिसे सबसे अधिक प्रभावशाली दीर्घायु मंत्र कहा जा सकता है।

शिवपुराण के अनुसार, इस मंत्र का उच्चारण करने से दीर्घायु मिलता है।

  • जिस भी मनुष्य को लंबी उम्र पाने की इच्छा हो, उसे नियमित रूप से महामृत्युजंय मंत्र का जप करना चाहिए। इस मंत्र के प्रभाव से मनुष्य का अकाल मृत्यु का भय खत्म हो जाता है। 
  • यह मंत्र भगवान शिव को बहुत प्रिय है, इसका का जप करने वाले को लंबी उम्र का वरदान मिलता है।

दीर्घायु मंत्र 

ओम् त्रयंम्बकं यजामहे सुगंधिं पुष्टिवर्धनं!
उर्वारुकमिव  बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्!!
  • यह मंत्र मनुष्य को न सिर्फ निर्भय बनाता है बल्कि उसकी बीमारियों का भी नाश करता है। 
  • भगवान शिव को मृत्यु का देवता भी कहा जाता है।
  • इस मंत्र के जप से रोगों का नाश होता है और मनुष्य निरोगी बनता है।